Technology

CVV NUMBER KYA HAI? हिंदी में जानकारी |

Written by eazyhindiofficial

आज हम जानेंगे कि CVV NUMBER KYA HAI? क्योंकि आज के समय में हर कोई क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करता है और ऐसे में आपको इसके बारे में भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए |

जिससे कि अगर आपको सही तरीके से पता होगा कि CVV NUMBER KYA HAI? ऐसे में आप इंटरनेट पर बिल्कुल सुरक्षित तरीके से डेबिट कार्ड और अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर पाएंगे और कोई भी आपकी अनुमति के बिना आपके बहन से पैसे नहीं ले पाएगा |

जब भी आप कहीं पर ऑफलाइन या ऑनलाइन ना किसी वेबसाइट पर शॉपिंग करते हैं ऐसे में वहां पर डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की साड़ी जानकारी देने की जरूरत होती है जैसे की हम डेबिट कार्ड के नंबर देते हैं इसके अलावा एक्सपायरी डेट और भी बहुत सी जानकारी को देने की जरूरत होती है |

इसी के साथ में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए CVV NO. को भी देना होता है जो कि एक प्रकार से हमारे कार्ड  को सुरक्षित रखने के लिए नंबर होते हैं जो कि हर एक डेबिट और क्रेडिट कार्ड के पीछे की तरफ लिखे हुए होते हैं |

ऑनलाइन शॉपिंग करते समय यह नंबर काफी ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि अगर आपको अपने  कार्ड के CVV नंबर के बारे में कोई जानकारी नहीं है ऐसे में आप अपने कार्ड का इस्तेमाल कहीं पर भी नहीं कर सकते हैं |

यहां पर हम इससे पहले कि CVV NUMBER KYA HAI? के ऊपर जानकारियों को और अधिक विस्तार से देना शुरू करें उससे पहले हम यह भी बता दें कि अगर आपको और किस प्रकार की किसी जानकारी की जरूरत है ऐसे में हमारी वेबसाइट एक अच्छा विकल्प हो सकता है |

CVV NUMBER KYA HAI?

दरअसल अगर इसे सरल तरीके से समझने की कोशिश करें तो CVV NUMBER एक प्रकार से हमारे कार्ड का  सिक्योरिटी पिन होता है जिसकी वजह से हमारे कार्ड को इंटरनेट पर सुरक्षित इस्तेमाल करने में काफी ज्यादा मदद मिलती है |

cvv no hindi

इसकी फुल फॉर्म CVV( CARD VERIFICATION VALUE) है इसके फुल फॉर्म से ही हम जान सकते हैं कि यह किसी भी कार्य के लिए काफी ज्यादा उपयोगी है और सिर्फ आपके कार्ड के सिक्योरिटी अपने आप ही को पता होना चाहिए |

यहां पर बता दे कि यह हर एक कार्ड के पीछे की तरफ लिखे हुए होते हैं जहां पर तीन नंबर के डिजिटल दिन होते हैं फिर चाय आपके पास में क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड किसी भी बैंक का क्यों ना हो सभी के कार्ड के ऊपर पीछे की तरफ ही आपको यह नंबर देखने को मिलेंगे |

जब भी कोई ऑनलाइन है पैसों का लेनदेन ना आप अपने कार्ड के माध्यम से करते हैं वहां पर आपको CVV नंबर को डालने की जरूरत होती है तभी जाकर आप पैसों का लेनदेन अपने कार्ड के माध्यम से कर सकते हैं |

इसका आविष्कार 1995 में किया गया था और पहले के समय में कुल मिलाकर 11 अंकों के यह नंबर होते थे जो कि काफी मुश्किल होता है हर किसी के लिए इतने लंबे 3 को अच्छी तरीके से याद रख पाना इसीलिए बाद में इन्हें बदलकर 3 अंकों के पिन में कर दिया |

यह उसी प्रकार से है जब एटीएम में हम अपने कार्ड के माध्यम से पैसे निकालते हैं उस समय हमें एटीएम पिन जरूरत होती है तभी हम एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं उसी प्रकार से ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करने के लिए आपके पास में  अपने कार्ड के CVV नंबर होने चाहिए |

CCV CODE क्यों जरुरी है?

हमने अभी तक CVV NUMBER KYA HAI? इसके बारे में काफी विस्तार से जानकारी दी है अभी हम बात करते हैं  की CVV CODE की जरूरत कहां पर होती है और यह कितने ज्यादा महत्वपूर्ण है |

अगर इसे सरल तरीके से बताने की कोशिश करें हम ऐसे में जब भी हम एटीएम से पैसे निकालने के लिए जाते हैं तब हमारे एटीएम पिन हर कोई देख लेता है क्योंकि वैसे भी एटीएम में हमेशा भीड़ ही रहती है इस वजह से एटीएम पिन हमारे लगभग हर किसी को पता चल जाता है |

लेकिन CVV CODE कि बारे में कोई नहीं जान सकता क्योंकि जब भी हम एटीएम से पैसे निकालते हैं तब CVV CODE की कोई जरूरत नहीं होती है और वैसे भी यह कार्ड के पीछे की तरफ लिखे हुए होते हैं काफी छोटे अक्षरों में जो कि आसानी से किसी को भी नहीं दिखते |

इस वजह से CVV CODE के बारे में कोई नहीं जान सकता सिर्फ आपको ही पता होगा कि आपके कार्ड के CVV CODE क्या है और अगर किसी को भी आपके कार्ड की डिटेल मिल जाती है जैसे कि कार्ड नंबर एक्सपायरी डेट फिर भी वह आपके कार्ड के माध्यम से पैसों का लेनदेन या कोई ऑनलाइन शॉपिंग नहीं कर पाएंगे जब तक कि उन्हें CVV CODE नहीं मिल जाते |

निष्कर्ष

हमने इस पोस्ट के जरिए CVV NUMBER KYA HAI? के विषय के ऊपर काफी जानकारी दी है ऐसे में फिर भी किसी प्रकार की कोई सवाल हैं जिनका जवाब हमारी इस पूरी पोस्ट को पढ़ने के बाद में भी नहीं मिल पाया है ऐसे में आप नीचे कमेंट के जरिए हमें अपने सवाल भी पूछ सकते हैं |

About the author

eazyhindiofficial

Leave a Comment